Samsung on7 low price me

Saturday, 22 April 2017

भारत में उपस्थित दुनिया का सबसे बड़ा लंगर(भंडारा)

🙏क्या आप जानते हैं -?? विश्व की सबसे बड़ी लंगर
सेवा - हरमंदर साहिब ( गोल्डन टेम्पल ) अम्रतसर में
होती है।
👍अनुमान के मुताबिक़ 1 लाख श्रद्धालु रोजाना देश विदेश
से यहां दर्शनार्थ आते हैं - और लंगर प्रसादी ग्रहण
( छकते ) करते हैं।
👍साल दर साल जब से हरमंदर साहिब ( गोल्डन टेम्पल )
गुरुद्वारे का निर्माण हुवा है - ( लगभग 450 साल ) तब
से ही ये सेवा - अनवरत जारी है।
ये अपने आप में विश्व रिकार्ड है - और गिनीज बुक में
दर्ज है।
👍आओ आपको सम्पूर्ण जानकारी देते हैं - अमृतसर के
रामदास जी लंगर हाल की।
ज़रूर पड़े ----
👍दरबार साहिब (जो स्वर्ण मंदिर के नाम से प्रचलित है)
की लंगर
सेवा।
यह सिखों के पवित्र स्थल का वह निशुल्क - रसोई घर है
-👍 जहाँ एक
लाख (1,00,000) लोग प्रति दिन लंगर छकते है।
👍भारत का पहला ऐसा मुफ्त रसोई घर जहाँ 2 लाख
(2,00,000)
रोटियाँ और 1.5 टन दाल रोज़ाना बनती है।
👍2 लाख रोटियाँ और 1.5 टन दाल का लंगर तकरीबन 1
लाख संगत
एवं श्रद्धालुओं द्वारा छका जाता है।
👍हर रोज़ इतना लंगर उत्पादन और छकने वाला यह
आंकड़ा - पश्चिमी भारत के - अमृतसर शहर के पवित्र
गुरुद्वारा दरबार साहिब के इस निशुल्क रसोई घर को सब
श्रेणियों से महान एवं श्रेष्ठ रखता है।
👍यह आंकड़ा विशेष मौकों एवं छुट्टियों के दिनों में
दोगुना भी हो जाता है।
👍परन्तु लंगर में कभी - कमी नहीं आती।
सामान्य तौर पर लंगर में लगने वाली सामग्री 7000
किलो आटा -
1200 किलो चावल - 1300 किलो दाल - 500
किलो शुद्ध
देसी घी - रोज़ाना इस्तेमाल होता है।
👍इस रसोई घर में लंगर बनाने के लिए तरह - तरह की -
तकनीकों का इस्तेमाल किया जाता है -??
👍जैसे लकड़ी का - LPG
गैस का - और इलेक्ट्रॉनिक रोटी बनाने की मशीन का।
अनुमानतः 100 सिलिंडर एवं 500 किलो लकड़ी प्रति दिन
इस्तेमाल
होती है।
👍एवं तकरीबन 450 सेवादार इस निशुल्क रसोई घर में
सेवा करते है।
जिसमे अन्य बाहर से आयी संगत भी सेवा में लग
जाती है - जिसकी संख्या सैंकड़ों में होती है।
👍इस सेवा के अंतर्गत सब्जियें साफ़ करना - उन्हें
छिलना - काटना व धोना - इसके साथ
ही हजारो श्रद्धालुओं द्वारा - जुठे बर्तनों के सफाई
की सेवा - बड़े चाव व श्रद्धा से की जाती है।
👍इस रसोई घर का सालाना बजट हजारों करोड़ो में है।
सिक्ख गुरुओं का ये पहला सन्देश है की - प्रथ्वी पे
कोई भी जिव आत्मा भूखी ना रहे - पहले भूखे जीव
को भोजन - पश्चात भजन।
इस महान प्रेरणादायी लंगर सेवा और सन्देश को - देश
भर में सब को बताये - जो वास्तव में तारीफ़ के काबिल
है।🌷🔔🌷🔔🌷🔔🌷🔔🌷
🎀वाहेगुरु जी का खालसा🎀 -
🎀🙏वाहेगुरु जी की फ़तेह 🙏🎀-